रामेश्वरम. भारतीय मछुआरों पर कथित रूप से श्रीलंकाई नौसैनिकों द्वारा उनके जलक्षेत्र में घुसकर मछली पकड़ने के लिए हमला किया गया जिसमें 12 मछुआरे घायल हो गए और उनकी 20 नौकाएं क्षतिग्रस्त हो गयीं. स्थानीय मछुआरा संघ के अध्यक्ष सहायराज ने बताया कि एक नौका डूब गई और उसमें सवार चार मछुआरों ने खुद को बचाने के लिए दूसरी नौका में छलांग लगा दी. उन्होंने आरोप लगाया कि श्रीलंकाई नौसैनिक सोमवार देर रात को सात नौकाओं में सवार होकर क्षेत्र में आए थे.
 
सहायराज ने कहा कि उन्होंने इनमें से कई मछुआरों को निर्वस्त्र कर दिया और छड़ों एवं पत्थरों से उनकी पिटाई की. इसके साथ ही उन्होंने 20 नौकाओं को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. घायल मछुआरों का लौटने पर निजी क्लीनिकों में इलाज करवाया गया. सभी मछुआरे एक बड़े समूह का हिस्सा थे, जिसने कल समुद्र में 531 नौकाएं उतारी थीं.
 
श्रीलंकाई नौसेना का भारतीय मछुआरों पर हमला,12 घायल भारतीय मछुआरों पर कथित रूप से श्रीलंकाई नौसैनिकों द्वारा उनके जलक्षेत्र में घुसकर मछली पकड़ने के लिए हमला किया गया जिसमें 12 मछुआरे घायल हो गए. इसी बीच, तमिलनाडु एवं पुडुचेरी मछुआरा संघ के अध्यक्ष एन ए बोस ने आरोप लगाया कि यह भारतीय मछुआरों पर किए गए सबसे क्रूर हमलों में से एक था. इसके साथ ही बोस ने चेतावनी दी कि यदि इन घटनाओं को रोकने के लिए कदम नहीं उठाए जाते हैं, तो वे आंदोलन करने के लिए विवश होंगे.