वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के स्टाफ मेंबर में पहली बार किसी ट्रांसजेंडर को शामिल किया गया है. व्हाइट हाउस ने मंगलवार को ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट राफी फ्रीडम-गुरस्पैन को एप्वाइंट कर लिया. वह फिलहाल प्रेसिडेंट के लिए काम करने वाली रेक्रुइट्स टीम का हिस्सा बनीं हैं. फ्रीडम व्हाइट हाउस पर्सनल ऑफिस में रेक्रुइट्मेंट डायरेक्टर के रूप में काम करेंगी. बता दें कि इसी के साथ अमेरिकी प्रशासन ने सबको समान दर्जा के लिए चल रहे कैंपेन के सपोर्टरों को महत्व दिया है.
 
कैसे हुआ सिलेक्शन?
ओबामा के सीनियर एडवाइजर वालेरेई जारेट ने कहा कि राफी फ्रीडम ने इस प्रकार के प्रदर्शन की अगुवाई की जो एक प्रशासनिक चैंपियन में होती है. अमेरिका में रह रहे ट्रांसजेंडर के प्रति उनकी लड़ाई अच्छी रही. खासकर ट्रांसजेंडर के रंग-रुप और गरीबी के खिलाफ उनकी कोशिशें दिखाती हैं कि उनमें प्रशासनिक क्षमता है.
 
ट्रांसजेंडर​ के अधिकारों की लड़ाई मज़बूत होगी 
नेशनल सेंटर फॉर ट्रांसजेंडर इक्वालिटी (NCTE) की मारा केसिलिंग ने कहा कि ऐसा पहली बार होगा जब व्हाइट हाउस में एक ट्रांसजेंडर को जगह मिल रही है. रंग देखे, बिना भेदभाव के ऐसा हो रहा है. इससे ट्रांसजेंडर के अधिकारों की लड़ाई को मजबूती मिलेगी. बता दें कि वह जेलों में ट्रांसजेंडर के हालात सुधारने, पुलिसिंग और ट्रांसजेंडर महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा को लेकर काम कर चुकी हैं.