नई दिल्ली : श्रीलंकाई नौसेना ने एक बार फिर से तमिलनाडु के 4 मछुआरों को गिरफ्तार किया. ये गिरफ्तारी डेल्फ्ट लैंड के नजदीक से हुई है. ये सभी मछुआरे पुदुक्कोट्टई के रहने वाले हैं. नेवी ने इनकी वोट को भी जब्त कर लिया है. इससे पहले 26 अक्टूबर को 5 मछुआरों को श्रीलंकन नेवी ने नावों के साथ गिरफ्तार किया था. इससे भी पहले 17 अक्टूबर को 8 मछुआरों को श्रीलंकन नेवी ने नावों के साथ गिरफ्तार किया था. इन्हें पकड़कर डेल्फ़्ट आइलैंड के पास कांकेसंदुरई नौसेना शिविर में ले जाया गया है. मछुआरों की एक नाव भी जब्त की गई है. ये जुलाई में ही चौथा मौका है, जब श्रीलंकाई नेवी ने भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया है.
 
इससे पहले 23 जुलाई को श्रीलंकाई नौसेना ने 8 भारतीय मछुआरों को अपने जलक्षेत्र में घुसने के आरोप में गिरफ्तार किया था. मीडिया रिपोर्टे्स के अनुसार श्रीलंकाई नेवी ने अपने जलक्षेत्र में मछली पकड़ने के आरोप में तमिलनाडु के 8 मछुआरों को गिरफ्तार किया है. घटना के बारे में नागापट्टनम के संयुक्त मत्स्यपालन निदेशक अमला जेवियर ने बताया कि श्रीलंकाई तट के पास नेदुनतीवू में मछली पकड़ने के लिए नागापट्टनम के मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्हें जाफना जेल भेज दिया.
 
इससे पहले 7 जुलाई को श्रीलंकाई नौसेना ने अपने जलक्षेत्र में घुसने के आरोप में तमिलनाडु के 17 मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया. नागपट्टनम मत्स्य विभाग के संयुक्त निदेशक सुब्बूराज ने बताया कि दो यांत्रिक नौकाओं में मछली पकड़ने निकले नागपट्टनम के मछुआरों को श्रीलंकाई नौसेना ने नेदुंतीवू अपतटीय क्षेत्र में गिरफ्तार कर लिया. मछुआरों को उनकी दो यांत्रिक नौकाओं के साथ श्रीलंका के कंगेसंतुरई ले जाया गया है.

श्रीलंकाई नेवी ने रामेशमवरम के 5 भारतीय मछुआरों को नाव समेत किया गिरफ्तार