नई दिल्ली. जापान के शहर हिरोशिमा में 6 अगस्त 1945 के दिन आज ही दुनिया का पहला परमाणु बम गिराया गया था. इस परमाणु हमले का कोडनेम लिटल ब्वॉय था. यह बम तकरीबन 4000 किग्रा वजनी, तीन मीटर लंबा था.

इस हमले में हिरोशिमा में कुल तीन लाख 50 हजार की आबादी में से एक लाख 40 हजार लोग मारे गए थे. 70 हजार लोग बम के गिरते ही तुरंत मौत के मुंह में समा गए. वहीं, रेडिएशन से पीड़ित 70 हजार लोगों ने साल 1950 तक इसके प्रभाव से जूझते रहे.जिस समय यह बम गिराया गया उस समय इसकी विस्फोटक क्षमता यूरेनियम -235 की न्यूक्लियर फिशन प्रोसेस (नाभिकीय विखंडन प्रक्रिया) की थी. इसकी विध्वंसक क्षमता 13-18 किलोटन टीएनटी (ट्राइनाइट्रोटालुइन) के बराबर थी.