न्यूयॉर्क : अमेरिका ने पाकिस्तान को लेकर बड़ा खुलासा किया है. अमेरिका ने पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें कहा गया है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय हमेशा ही जबरन धर्मांतरण के डर में रहता है.
 
अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान में धार्मिक स्वतंत्रता खतरे में है. रिपोर्ट में साफ साफ कहा गया है कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू, सिख, इसाई जैसे अल्पसंख्यकों को हमेशा ही धर्मांतरण का डर लगा रहता है. इसके अलावा अल्पसंख्यकों को यह भी चिंता रहती है कि जबरन धर्मांतरण पर रोक लगाने के लिए सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठाती.
 
अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट 2016 की रिपोर्ट जारी करते हुए अमेरिका के सेक्रटरी ऑफ स्टेट रेक्स टिलरसन ने कहा है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों को जबरन धर्मांतरण करना पड़ता है और इसे रोकने में वहां की सरकार असमर्थ है. 
 
अमेरिकी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अल्पसंख्यक पाकिस्तान में ईंट बनाने और खेती से जुड़े क्षेत्र में मजदूरी करने के लिए मजबूर हैं. इतना ही नहीं पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों को शादी का रजिस्ट्रेशन कराने में भी मुश्किल होती है.