नई दिल्ली : दुनिया के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति क्रिस्टल का 113 साल में शुक्रवार को निधन हो गया. पिछले साल गिनेज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में क्रिस्टल का नाम सबसे उम्रदराज व्यक्ति के रुप में दर्ज हुआ था. क्रिस्टल का जन्म 1903 में पोलैंड के जारनोव शहर में एक रूढ़िवादी यहूदी परिवार में हुआ था.
 
इजरायल क्रिस्टल 1 महीने बाद अपना 114वां जन्मदिन मनाने वाले थे. इजरायल क्रिस्टल ने दोनों विश्व युद्धों को करीब से देखा था और नाजियों द्वारा किए गए नरसंहार से बच निकले थे. क्रिस्टल के पोते ऑरेन ने बताया कि प्रथम विश्व युद्ध के दौरान जब वह बच्चे थे तो वह एक शराब तस्कर के लिए हेल्पर का काम करते थे. सिर्फ 12 साल की उम्र में वह अपने पीठ पर भारी शराब के पैकेज लादकर कई किलोमीटर तक पैदल चलते थे. 
 
प्रथम विश्व युद्ध के बाद 1920 में वह अपने परिवार का पारिवारिक कॉन्फेक्शनरी बिजनस में काम करने के लिए पोलैंड के वूज शहर में चले गए. उनकी पहली पत्नी और दो बच्चे यहूदी नरसंहार होलोकॉस्ट में मारे गए थे.
 
 
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यातना शिविरों में जर्मन नाजियों ने यहूदियों को विभिन्न औजारों, गैस चैम्बर, घातक सुई, पर तरह-तरह के भयंकर प्रयोग करके मार दिया था. इस्राइल को जब दूसरे विश्वयुद्ध के बाद बचाया गया तो उनका वजन महज 37 किलोग्राम था.