नई दिल्ली: इराक के मोसुल में 39 भारतीय लापता हो गए हैं. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रविवार को उम्मीद जताई है कि आईएसआईएस ने जिन 39 भारतीय का अपहरण किया था वो इराक की जेल में कैद हो सकते हैं.
 
पीड़ितों के परिवार वालों के साथ बातचीत में सुषमा स्वराज ने उम्मीद है कि इराक के बदुश जेल में 39 भारतीय कैद हो सकते हैं. जिन्हें आतंकी संगठन ISIS ने अगवा कर लिया था. बदुश गांव, मोसुल से 31 किलोमीटर की दूरी पर है.
 
 
आईएसआईएस से मोसुल के आजाद होने के बाद अब वहां पर पर पूरी तरह से सरकार का नियंत्रण हो चुका है. जिसके बाद अगवा भारतीयों को वहां से निकालने की उम्मीद जगी है. प्रेस कांफ्रेंस से पहले सुषमा स्वराज ने विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह और एमजे अकबर के साथ सभी लापता 39 भारतीयों के परिवारों से मुलाकात की.
 
सुषमा स्वराज ने कहा कि जिस दिन इराक के प्रधानमंत्री ने ISIS से आजादी का ऐलान किया उसी दिन मैने उसी दिन वीके सिंह को इरबिल जाने के लिए कहा. वहां सूत्रों ने उन्हे बताया कि लापता भारतीय संभावित तौर पर बादुश की किसी जेल में बंद हैं. हालांकि वहां पर जंग अभी खत्म नहीं हुई है.