मॉस्को. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति इस्लाम कारिमोव से मुलाकात की. इस दौरान मोदी ने उन्हें प्रमुख कवि अमीर खुसरो की काव्य संग्रह ‘ख़म्स-ए-खुसरो’ (Khamsa-i-Khusrau) भेंट की. ताशकंद स्थित राष्ट्रपति आवास ‘कुकसरोय’ (Kuksaroy) में पीएम मोदी और राष्ट्रपति कारिमोव के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत जारी है.

इससे पहले मोदी को ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया गया. मोदी सोमवार को उज्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद पहुंचे. जहां उज्बेकिस्तान के प्रधानमंत्री शौकत मिरोमोनोविच मिर्जीयोएव ने एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी की. बाद में दोनों नेताओं ने औपचारिक बैठक में बातचीत भी की. पीएम मोदी ने अंग्रेजी और स्थानीय भाषा में ट्वीट कर कहा, “शानदार स्वागत के लिए प्रधानमंत्री शौकत मिरोमोनोविच मिर्जीयोएव का धन्यवाद. यहां आकर अच्छा लगा.”

क्या है उज्बेकिस्तान में पीएम का प्रोग्राम?
दो दिन की उज्बेकिस्तान यात्रा के दौरान मोदी वहां के स्कॉलर्स और हिंदी के स्टूडेंट्स से मिलेंगे. इसके अलावा, वे यहां भारतीय समुदाय के लोगों को भी संबोधित करेंगे. मोदी पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे, जिनका 1966 में रहस्यमय परिस्थितियों में ताशकंद में निधन हो गया था. बता दें कि उज्बेकिस्तान में लगभग 3,000 भारतीय हैं.

पांच देशों की यात्रा पर हैं पीएम
नरेंद्र मोदी रूस और पांच मध्य एशियाई देशों उज्बेकिस्तान, कजाखस्तान, तुर्कमेनिस्तान, किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान की यात्रा पर गए हैं. दो मध्य एशियाई देशों के दौरे के बाद ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने वे रूस के उफा शहर जाएंगे. वहां से वापसी में वे तीन अन्य मध्य एशियाई देशों का दौरा करेंगे. ब्रिक्स में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका सदस्य राष्ट्र हैं. इस दौरान 10 जुलाई को मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुलाकात हो सकती है. उनका यह दौरा 6 से 13 जुलाई तक चलेगा। 6-7 जुलाई को मोदी उज्बेकिस्तान में होंगे और उसके बाद 7-8 जुलाई वह कजाख्स्तान में होंगे. इसके बाद वे रूस के उफा शहर की ओर उड़ान भरेंगे. उफा से वापसी में वह 10-11 जुलाई को तुर्कमेनिस्तान, 11-12 जुलाई को किर्गिस्तान और 12-13 जुलाई को तजाकिस्तान का दौरा करेंगे.

एजेंसी