सना. शिया हूती विद्रोहियों की गतिविधियों से बचने के लिए भारत ने यमन में सुरक्षा को लेकर अपने सभी भारतीय नागरिकों से तत्काल यमन छोड़ने को कहा है. वहीं अमरीका में सऊदी अरब के राजदूत ने कहा है कि उनके देश ने यमन में शिया हूती विद्रोहियों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू कर दिया है. तीसरी एडवाइजरी जारी करते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम अपने नागरिकों से अनुरोध कर रहे हैं. उन्हें सलाह दे रहे हैं कि उपलब्ध व्यावसायिक तरीकों के जरिए तत्काल देश छोड़ दें.’  बता दें कि यमन में रह रहे भारतीयों की संख्या 3,000 से 3500 के आसपास है जो सना समेत अनेक प्रांतों में रह रहे हैं. इस समय शिया विद्रोही यमन में राष्ट्रपति अब्दराबुह मंसूर और अन्य नेताओं पर हमले कर रहे हैं. इससे पहले बुधवार को यमन के राष्ट्रपति अदन स्थित राष्ट्रपति आवास को छोड़कर अज्ञात स्थान पर चले गए. हालांकि राष्ट्रपति के सहयोगियों ने उनके देश छोड़कर भागने की खबरों से इंकार किया है. शिया विद्रोहियों ने राष्ट्रपति को पकड़वाने के लिए बड़ी राशि की घोषणा की है, साथ ही रक्षा मंत्री को कैद करने का दावा किया है.