ऑकलैंड. न्यूजीलैंड के ऑकलैंड शहर में एक युवक ने धार्मिक भेदभाव की शिकायत दर्ज कराई है. उसका कहना है कि सिर पर पगड़ी बांधने के कारण उसे क्लब में प्रवेश नहीं करने दिया गया. वहीं प्रधानमंत्री जॉन की ने इसे बेहद निराशाजनक घटना बताते हुए कहा, ‘मुझे लगता था कि हम सांस्कृतिक रूप से काफी विचारवान समाज से ताल्लुक रखते हैं. लोग धार्मिक आस्था के कारण पगड़ी पहनते हैं. हमें उन सभी को इसमें शामिल करने की कोशिश करनी चाहिए.’

पुलिस के अनुसार, गुरप्रीत सिंह और उनके साथियों को मंगलवार को मैनुरेवा कॉस्मोपॉलिटन क्लब में प्रवेश करने से रोक दिया गया, जिसके बाद उन्होंने बुधवार को मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज कराई. गुरप्रीत से कहा गया कि वह क्लब के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं, जिसमें पगड़ी पहनकर आने का प्रावधान नहीं है. ‘द न्यूजीलैंड हेराल्ड’ के अनुसार गुरप्रीत ने बताया कि यह पगड़ी उनकी धार्मिक आस्था से जुड़ी है. इसलिए वह इसे हटा नहीं सकते. क्लब के अध्यक्ष जॉन स्टीवन्स ने कहा कि नियम धार्मिक भेदभाव को लेकर नहीं हैं. इसका मकसद टोपी, हुड या सिर पर कुछ और पहन कर आने वालों को रोकना है. 2009 में एक अन्य सिख व्यक्ति करनैल सिंह को भी इसी कारण क्लब में जाने से रोक दिया गया था.

एजेंसी