वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप की बयानबाजियों के बीच एक नया मोड़ आ गया है. अब डेमोक्रेट बराक ओबामा के सौतेल भाई मलिक ओबामा रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप का समर्थन करते नजर आएंगे. बता दें कि मौजूदा राष्ट्रपति बराक ओबामा की डेमोक्रेटिक पार्टी ने हिलेरी क्लिंटन को उम्मीदवार बनाया है. 
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक मलिक ओबामा केन्या और अमेरिका दोनों देशों की नागरिकता रखते हैं और पहले ही रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को वोट देने का ऐलान कर चुके हैं. मलिक ने मीडिया से कहा कि डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका को फिर से महान बना सकते हैं और वो प्रेसिडेंशियल डिबेट में ट्रंप का गेस्ट बनने को लेकर उत्साहित हैं. इतना ही नहीं बुधवार की रात होने वाले तीसरे प्रेसिडेंशियल डिबेट में भी मलिक ओबामा डोनाल्ड ट्रंप के गेस्ट बनकर शामिल होंगे. 
 
‘ओबामा के काम से दुखी दुखी हूं’
 
मलिक ओबामा ने कहा कि वो बराक ओबामा के काम से दुखी हैं, इसलिए आजीवन डेमोक्रेट रहने के बावजूद इस बार वो रिपब्लिकन पार्टी के साथ रहेंगे. उन्होंने कहा कि ट्रंप जो भी बोलते हैं, दिल से बोलते हैं और वही अमेरिका को फिर से महान बना सकते हैं. मलिक ने यह भी कहा कि वो आखिरी बार 2015 में बराक से मिले थे और महज एक औपचारिक भेंट थी.
 
इसके अलावा मलिक ने ट्रंप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिलाओं को निशाने पर लिया और कहा कि ये लोग इतने दिन से कहां चुप थे. साथ ही मलिक ने लीबिया के हालत की चर्चा करते हुए हिलेरी पर निशाना साधते हुए कहा कि लीबिया के तानाशाह गद्दाफी से उनके अच्छे रिश्ते थे.
 
ओबामा के भाई को लाना प्रचार अभियान की सफलता 
बता दें कि बड़बोले या हमले में मर्यादा लांघने के लिए मशहूर डोनाल्ड ट्रंप दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में हिलेरी क्लिंटन के पति और पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली तीन महिलाओं को अपना गेस्ट बनाकर लाए थे. तीसरी बहस में ओबामा के भाई को लाना उनके आक्रामक प्रचार अभियान की एक और सफलता है. हालांकि चुनाव में उन्हें इसका फायदा मिलेगा या नहीं, ये तो नतीजों के बाद ही पता चलेगा.