कराची. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुजरात और जम्मू-कश्मीर का ‘कसाई’ बताया है. बिलावल ने पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि दुनिया का भारत द्वारा कश्मीर घाटी में किए जा रहे अत्याचार से सिर्फ ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान पर आरोप लगा रहे हैं.
 
कराची में एक रैली के दौरान भुट्टो ने कहा कि मोदी ‘अतिवादी’ हैं उनसे कोई आशा नहीं की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि मोदी कश्मीर में हो रहे जुल्मों से सिर्फ ध्यान भटकाने के लिए ही पाकिस्तान पर आरोप लगाते रहते हैं. कश्मीरी अपने आत्म निर्णय के अधिकार के लिए भारत से संघर्ष कर रहे हैं. भुट्टो ने अफसोस जताया कि कुछ पार्टियों ने राजनीतिक फायदे के लिए कश्मीर मुद्दे पर संसद के संयुक्त सत्र का बहिष्कार कर दिया था.
 
पाकिस्तानी रिपोर्ट के अनुसार भुट्टो ने पीएम मोदी को ‘कश्मीर और गुजरात का कसाई’ बताया. भुट्टो के अनुसार कश्मीर की जनता कथित तौर पर आत्मनिर्णय के अधिकार के लिए भारत से संघर्ष कर रही है. भुट्टो ने 4 मांगें रखते हुए धमकी दी कि यदि ये पूरी नहीं हुईं, तो वह 27 दिसंबर को एक लंबा आंदोलन करेंगे.
 
बिलावल की पहली मांग है कि राष्ट्रीय सुरक्षा पर संसदीय समिति का गठन हो, दूसरी मांग पनामा पेपर पर उनकी पार्टी के विधेयक को पारित किया जाए, तीसरी मांग चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) पर पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के प्रस्ताव को लागू हो और विदेश मंत्री की तुरंत नियुक्ति हो. बता दें कि रविवार को गोवा में ब्रिक्स शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान को आतंकवाद का जननी करार दिया था.