इस्लामाबाद. पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने 336 सांसदों और विधायकों की सदस्यता सस्पेंड कर दी है. सस्पेंड होने वाले सांसदों और विधायकों पर आरोप है कि उन्होंने बार-बार मांगने पर भी अपनी ज़मीन-जायदाद का ब्यौरा पाकिस्तान चुनाव आयोग को मुहैया नहीं कराया.
 
इलेक्शन कमीशन ऑफ पाकिस्तान के नोटिफिकेशन के मुताबिक, सस्पेंड किए गए 336 जनप्रतिनिधियों में से 66 पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के सदस्य हैं, जिन्हें भारत के लोकसभा सांसद के समकक्ष माना जाता है. इसके अलावा पाकिस्तानी संसद के उच्च सदन यानी सीनेट के 22 सदस्य भी सस्पेंड किए गए हैं.
 
सांसदों के अलावा पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पंजाब, सिंध, खैबर-पख्तूनख्वा और बलूचिस्तान की विधानसभाओं यानी प्रॉविंशियल असेंबली के सदस्यों को भी थोक के भाव सस्पेंड किया है. सस्पेंड होने वालों में पंजाब सूबे के 137, सिंध के 49, खैबर-पख्तूनख्वा के 49 और बलूचिस्तान के 13 विधायक शामिल हैं.