मास्को. अपने दुश्मनों को धोखा देने के लिए रूस ऐसे नकली टैंक्स और प्लेन बना रहा हैं जो दिखने में तो बिलकुल असली लगेंगे पर नजदीक से  देखने पर पता लगेगा कि ये महज हवा भरे हुए गुब्बारे है. जो दिखने में असली प्लेन जैसे लगते हैं.
 
रूस का कहना है इन नकली टैंक्स और प्लेन की मदद से वो दुश्मनो को चकमा दे सकेगा. रुसी सेना के एक अधिकारी ने बताया,’यदि अतीत में लड़े गए युद्धों के बारे में देखा जाय तो ये देखने को मिलता है कि इस चाल को चलने वाले हमेशा जीतते रहे हैं.’ अमेरिकी फौजों ने भी द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इसी तरह से नाज़ी सेना को धोखा दिया था.
 
दरअसल किसी भी युद्ध में कोई भी सेना, दुश्मन सेना के साजो-सामान को नुकसान पहुचाने का काम करती है. इसमें सबसे पहले वो दुश्मन के टैंको और फाइटर प्लेनस को निशाना बनाती है. युद्ध में इस्तेमाल होने वाला ये सामन करोड़ो की राशि खर्च कर बनाया जाता है. इसलिए इसे दुश्मन की नज़र से बचाना बहुत जरूरी है. जिसके लिए ये तरीका नायाब है.