नई दिल्ली. बलूचिस्तान के अधिकारों को लेकर आवाजा उठाने वाली नायला कादरी बलूच ने पाकिस्तान पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान के हुक्मरानों के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन से बलूच लोग कुछ भी हासिल नहीं कर सकते हैं. बिना सर्जिकल स्ट्राइक के पाकिस्तान समझने वाला नहीं है. उन्हें लोकतंत्र और मानवाधिकारों से लेना देना नहीं है.
 
लंदन में पाकिस्‍तान हाई कमिशन के सामने गिलगित-बाल्टिस्‍तान और पीओके के लोगों ने सड़कों पर उतर कर पाकिस्तान के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. पाकिस्तान हाई कमिशन के बाहर लोगों ने अपने हाथों में बैनर और तख्‍ती लेकर सीमा पार आतंकवाद के लिए आतंकी कैंपों का विरोध किया.
 
इन प्रदर्शनकारियों ने पीओके में चलाए जा रहे लश्कर और जैश के आतंकी कैपों को खत्म करने की मांग की है. एक प्रदर्शनकारी महिला ने कहा कि मैं पाकिस्‍तान की सरकार से अपील करती हूं कि पीओके और गिलगित-बाल्टिस्‍तान में लोगों के ऊपर ढाए जा रहे अत्‍याचारों को भी बंद किया जाए.