इस्लामाबाद. हाफिज सईद और मसूद अजहर जैसे आतंकियों पर कार्रवाई की मांग अब सिर्फ भारत ही नहीं कर रहा है, बल्कि दुनिया के कई हिस्सों से इसकी मांग उठने लगी है. कार्रवाई की मांग अब पाकिस्तान के अंदर भी उठती दिखाई दे रही है. पाकिस्तान की मीडिया में भी अब सईद और मसूद पर कार्रवाई से जुड़े सवाल पूछे जा रहे हैं.
 
पाकिस्तान के एक अखबार में बुधवार को पाकिस्तान की सरकार और सेना से यह सवाल किया गया कि लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद और जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर पर कार्रवाई करने से पाकिस्तान को क्या खतरा है ? पाकिस्तान के एक अखबार में संपादकीय में यह सवाल सरकार से पूछा गया है.
 
 
बता दें कि हाफिज़ का नाम अमेरिका की तरफ से जारी अंतर्राष्ट्रीय आतंकियों की लिस्ट में शामिल है. हाफिज़ के सिर पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर का ईनाम भी रखा हुआ है बावजूद इसके हाफिज़ पाकिस्तान में खुलेआम घूमता है और भारत के खिलाफ आतंकियों को भड़काता है.
 
भारत की मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में शुमार मसूद अज़हर को साल 1999 में आईसी 184 विमान को हाइजैक कर रिहा कराया गया था. इसके बाद से ही ये पाकिस्तान जाकर बस चुका है.