Hindi world building collapse, building, saves girl, China, Ningxi, Beijing, father, mother, rescue workers http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Father%27s-last-embrace-saves-girl-in-China-building-collapse.jpg

मलबे में पापा खुद को नहीं बचा सके पर 12 घंटे तक सीने से सटाकर बचा ली 3 साल की बिटिया की जान

मलबे में पापा खुद को नहीं बचा सके पर 12 घंटे तक सीने से सटाकर बचा ली 3 साल की बिटिया की जान

    |
  • Updated
  • :
  • Wednesday, October 12, 2016 - 18:29
building collapse, Building, saves girl, China, Ningxi, Beijing, father, mother, rescue workers

Fathe last embrace saves girl in China building collapse

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
मलबे में पापा खुद को नहीं बचा सके पर 12 घंटे तक सीने से सटाकर बचा ली 3 साल की बिटिया की जानFathe last embrace saves girl in China building collapseWednesday, October 12, 2016 - 18:29+05:30
बीजिंग. चीन में पांच मंजिला बिल्डिंग के मलबे से 12 घंटे बाद एक तीन साल की बच्ची जिंदा बाहर निकली, लेकिन बच्चे के बचने का कारण बेहद ही भावुक भरा था. वो बच्ची अपने पिता के बांहों में दबी हुई और उसके पिता के ऊपर सीमेंट का भारी पिलर था. इस हादसे में बच्ची के पिता की मौत हो गई. 
 
मां का भी मिला शव
ये हादसा सोमवार को हुआ था. इसमें 22 लोगों की मौत हो गई और पांच जीवित बचें हैं जिसमें एक तीन साल की बच्ची है. जिसका नाम निंग्सी बताया जा रहा है. पिता की बाजुओं ने उसे इस तरह ढंक रखा था कि बच्ची को ज्यादा चोटें नहीं आईं. मरने के बाद भी पिता की बाजुओं की पकड़ ढीली नहीं थी. बचाव कर्मियों को पास में एक महिला का भी शव मिला. बताया गया है कि वो निंग्सी की मां थी. जो हादसे के वक्त बेटी को गोद में लिए बैठी थी.
 
 
मजदूर था पिता
निंग्सी के पिता की उम्र 26 साल थी. वो एक लोकल जूतों की फैक्ट्री में मजदूरी करते थे. रेस्क्यू टीम के एक मेंबर्स ने जब निंग्सी को निकाला तो उसने बताया कि बच्ची के चेहरे पर कोई भाव नहीं था. वह बेहद सहमी हुई थी. उस बच्ची के कपड़े पूरी तरह फट चुके थे. हालांकि उसे हॉस्पिटल ले जाया गया है.
 
पुरानी हो गई थी बिल्डिंग
बिल्डिंग के गिरने के कारणों की अभी जांच की जा रही है. बताया जा रहा है कि हाल में हुई भारी बारिश और निर्माण कार्यों की खराब गुणवत्ता के कारण बिल्डिंग के गिरने का कारण हो सकता है. यहां मौजूद बिल्डिंग 1970 की हैं जिसके ध्वस्त होने की आशंका के चलते तोड़ दिया गया. राहत कार्यों में करीब 800 कर्मियों को लगाया गया है.
First Published | Wednesday, October 12, 2016 - 18:26
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.