न्यूयॉर्क. अमेरिका में राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल हिलेरी और ट्रंप के बीच प्रेजिडेंशियल डिबेट खत्म हो चुकी है. इस दूसरी प्रेजिडेंशियल डिबेट में दोनों के बीच काफी तनातनी देखने को मिली. दूसरी डिबेट सेंट लुईस में हुई. इस प्रक्रिया की तीसरी और अंतिम डिबेट 19 अक्टूबर को होगी. दोनों नेताओं के बीच तल्खी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि डिबेट के शुरू होने से पहले जब दोनों नेता मंच पर आए तो दोंनो ने ही आपस में हाथ तक नहीं मिलाया. 
 
हिलेरी का ट्रंप पर हमला
डिबेट में शुरु से ही हिलेरी क्लिंटन ने ट्रंप पर हमला बोलना शुरु कर दिया. हिलेरी ने महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी के मुद्दे पर ट्रंप को जमकर लताड़ा. हिलेरी ने यहां तक कह दिया कि ट्रंप महिलाओं का सम्मान नहीं करते हैं इसलिए अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के लायक नहीं हैं. हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि ट्रंप को महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए. निजी ईमेल एकाउंट इस्तेमाल करने के मामले में हिलेरी ने कहा कि विदेश मंत्री होने के नाते ये मेरी गलती थी, मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था. 
 
ट्रंप ने दिया जवाब
वहीं दूसरी ओर ट्रंप ने हिलेरी के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मैं महिलाओं का बहुत सम्मान करता हूं. ट्रंप ने कहा कि उन्होंने कई बार अपने परिवार और देशवासियों से माफी मांगी है. डिबेट में ट्रंप ने हिलेरी पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने प्राइवेट ई-मेल्स एकाउंट का प्रयोग क्यों किया, और वो इन्हें सार्वजनिक क्यों नहीं कर रही हैं. ट्रंप ने कहा कि अगर वो राष्ट्रपति बनते हैं तो हिलरी के ईमेल्स की जांच कराएंगे. 
 
इस्लाम से कोई लड़ाई नहीं 
प्रेजिडेंशियल डिबेट में इस्लाम पर बोलते हुए ट्रंप ने कहा कि उनकी इस्लाम से कोई लड़ाई नहीं है.  
 
पहली टीवी डिबेट
बता दें कि इस बार से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में लाइव प्रेजिडेंशियल डिबेट का चलन नहीं था. अमेरिकी राष्ट्रपित चुनाव में पहली बार ऐसा हो रहा है कि प्रेजिडेंशियल डिबेट को टीवी पर लाइव किया जा रहा है. हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रम्प के बीच पहली टीवी डिबेट दो हफ्ते पहले हुई थी. इस प्रेजिडेंशियल डिबेट को दुनिया में 10 करोड़ लोगों ने देखा था. इस प्रेजिडेंशियल डिबेट में इकोनॉमी, टेररिज्म और गन लॉ जैसे 11 गंभीर मुद्दे छाए रहे थे.