इस्लामाबाद. पाकिस्‍तान में एक क्रिस्चिन लड़के के इस्‍लाम अपनाने से इनकार करने पर उसकी नाबालिग बहन से गैंगरेप करने का मामला सामने आया है. यह घटना इस्लामाबाद के कसूर जिले की है. द ब्रिटिश पाकिस्तानी क्रिस्चिन एसोसिएशन ने बताया कि कुछ लोग जबरदस्ती परिवार में घुसे और हमला कर दिया. साथ ही उन लोगों ने इस्लाम न अपनाने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एसोसिएशन ने बताया कि पीड़ित परिवार ने इस्लाम अपनाने से इनकार कर दिया और इसके बाद कुछ लोग आए और नाबालिग लड़की और उसके भाई की आंखों पर पट्टी बांध दी और उन्‍हें जबरदस्ती एक बिल्डिंग में ले गए. वहां पर युवक को प्रताड़ित किया गया और उसके ही सामने नाबालिग बहन के साथ गैंगरेप किया. इस दौरान युवक को बहन की आवाजें सुनने पर भी मजबूर किया.
 
किसी भी तरह युवक तो आरोपियों की गिरफ्त से बच निकलने में सफल रहा लेकिन लड़की अभी भी आरोपियों को कब्जे में है. क्रिस्चिन एसोशिएशन पीड़ित परिवार की मदद कर रहा है और प्रशासन से न्याय की मांग कर रहा है.
 
पीड़ित परिवार ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने रिपोर्ट लिखने से भी इनकार कर दिया. हालांकि पीड़ित परिवार ने आशंका जताई है कि अब शायद ही उनकी लड़की मिले. बता दें पाकिस्‍तान में क्रिस्चिन की आबादी केवल 4 फीसदी है. साथ ही वहां पर कई बार क्रिस्चिनों पर हमले हो चुके हैं और जो इस्लाम कबूल नहीं करते उनके घर से लड़कियों को जबरदस्ती उठाकर ले जाते हैं.
 
पिछले महीने ही पाकिस्तान के पेशावर में ईसाई बहुल इलाके में जबरदस्त बम धमाका हुआ था. इस धमाके में 14 लोग मारे गए थे. पाकिस्‍तान में पीड़ित परिवार बताते हैं कि वहां हिंदू हो या क्रिस्चिन या फिर कोई और जाति सिवाय मुस्लिम के यहां कोई सुरक्षित नहीं है. खबरों के अनुसार पाकिस्तान में हमले विशेष रूप से हिंदू, ईसाई और सुफी या फिर शिया मुसलमानों को निशाना बनाकर ही किए जाते हैं. इसी वजह से पाकिस्‍तान के कई हिंदू परिवारों ने भारत में शरण ले रखी है.