क्वेटा. बलूचिस्तान के पास क्वेटा में बलूच लोगों ने पाकिस्तान और चीन के विरोध में आज प्रदर्शन किया. बलूचों ने बलूचिस्तान में चीन के दखल के विरोध में और चीन-पाक इकॉनोमिक कॉरिडोर को लेकर चीन और पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगाए. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इतना ही नहीं प्रदर्शनकारियों ने दोनों देशों का पुतला भी फुंका, पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पोस्टर भी जलाए गए. बलूच लोगों बलूचिस्तान में चीन के दखल का विरोध कर रहे हैं, इसलिए चीन और पाकिस्तान के बीच आर्थिक समझौते पर भी वे नाराज हैं, जिसके चलते ही उन्होंने आजादी के लिए और चीन की दखल के विरोध में प्रदर्शन किया.
 
 
बता दें कि बलूचिस्तान के लोग हमेशा से ही पाकिस्तान से आजादी की मांग करते रहे हैं. उनका कहना है कि पाकिस्तान एक आतंकी देश है और वह बलूचों को शांति से नहीं रहने देना चाहता, पाक की सरकार उन पर अत्याचार करती है.
 
आज से करीब 70 साल पहले पाकिस्तान ने बलूचिस्तान पर कब्जा जमा लिया था, जिसके बाद से ही वहां के लोग आजादी की मांग कर रहे हैं. आजादी के संघर्ष में अब तक 50,000 से भी ज्यादा बलूच नागरिकों की मौत हो चुकी है.