काठमांडू. पाकिस्तान के इस्लामाबाद में होने वाल सार्क शिखर सम्मेलन रद्द होने के बाद सार्क अध्यक्ष नेपाल ने कहा है कि उसे सम्मेलन रद्द होने का अफसोस है. नेपाल ने कहा कि इस बात का अफसोस है कि इस्लामाबाद में 19वें सार्क शिखर सम्मेलन के लिए माहौल सही नहीं है. नेपाल के विदेश मंत्रालय ने आज यह बात कही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सार्क देशों के वर्तमान अध्यक्ष ने कहा कि अध्यक्ष होने के नाते वह जल्द ही निर्णय लेगा की सार्क शिखर सम्मेलन कहां और कब किया जाना चाहिए और इस सम्मेलन को सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए और सभी देशों की मौजूदगी के लिए बातचीत करेगा.
 
 
नेपाल ने कहा कि आपसी सहयोग के लिए शांति और स्थिरता होना बहुत जरूरी है. शांति और स्थिरता पाने के लिए सार्क के सदस्य देशों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके देश की जमीन का इस्तेमाल सीमापार आंतक फैलाने के लिए ना किया जाए.
 
बता दें कि उरी हमले के बाद भारत ने सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने से मना कर दिया था, जिसके बाद भूटान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका ने भी सम्मेलन का बहिष्कार किया था. जिसके बाद 8 और 9 नवंबर को इस्लामाबाद में होने वाले सार्क शिखर सम्मेलन को रद्द कर दिया गया.