मुजफ्फराबाद. पाकिस्तानी आर्मी और खुफिया एजेंसी आईएसआई के अत्याचारों के खिलाफ पीओके में लोगों का गुस्सा पूरे उबाल पर है. गुस्सा न सिर्फ पाकिस्तान के प्रति है बल्कि इस पूरे क्षेत्र में पाकिस्तान की सेना द्वारा चलाए जा रहे दमनचक्र के खिलाफ भी है. आज पीओके के कोटली में लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. यह लोग पाक आर्मी और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. लोगों का आरोप है कि दोनों मिलकर इलाके में लोगों पर अत्याचार कर रहे हैं. इसके खिलाफ आज काफी संख्या लोग सड़कों पर निकले और पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 

बता दें कि इस इलाके में यह पहला मौका नहीं है जब लोगों ने पाकिस्तान की सरकार और पाकिस्तानी सेना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया हो. इससे पहले कई बार पीओके में हुए चुनाव के दौरान धांधली के खिलाफ भी लोग सड़कों पर उतर चुके हैं. स्थानीय लोगों का आरोप था आईएसआई से मिलकर नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग के पक्ष में खुलकर हेराफेरी की और इसी का नतीजा हुआ कि उसे 41 सीटों में से 32 पर जीत मिली.  
 
इस दौरान मुजफ्फराबाद से नीलम घाटी तक के मतदाताओं ने शिकायत की है उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया. पीओके के पूर्व प्रधानमंत्री और मुस्लिम कॉन्फ्रेंस के नेता बैरिस्टर सुल्तान मोहम्मद चौधरी ने कहा था कि चुनाव में भारी हेराफेरी की गई है. मतदाताओं को खरीदने के लिए जमकर पैसे बांटे गए.