नई दिल्ली. अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने दो दिन में दूसरी बार भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से आतंकवाद के मुद्दे पर बात की है. उन्होंने आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि उरी हमले को लेकर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है. अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकियों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे पहले  अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार सुसैन राइस ने भारतीय समकक्ष अजित डोभाल से फोन पर बात की है. बताया जा रहा है कि सुसैन राइस ने उरी आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए भारत को आतंकवाद से निपटने के लिए हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया है. साथ ही सुसैन राइस ने उम्मीद जताई है कि पाकिस्तान उरी हमले पर कड़ा स्टैंड लेगा. राइस ने कहा कि अमेरिका, पाकिस्तान से आतंकी संगठनों से निपटने तथा उनके खात्मे की उम्मीद रखता है. 
 
सुसैन राइस ने अपने भारतीय समकक्ष को ऐसे समय पर फोन किया है जब भारतीय विदेश मंत्री अमेरिकी दौरे से लौटीं है. सुषमा ने यूएन में अपने संबोधन में पाकिस्तान को आतंकी गतिविधियों के लिए जमकर लताड़ा था. सुषमा के अमेरिकी दौरे पर अमेरिका ने भी आतंकवाद से निपटने के लिए भारत का साथ देने की बात दोहराई थी. 
 
फोन पर बातचीत पर राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा, राजदूत राइस ने बार-बार हमारी यह अपेक्षा दोहराई है कि पाकिस्तान लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद सहित, संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित किए गए समूहों, व्यक्तियों और उनसे संबद्ध गुटों से निपटने तथा उनका सफाया करने के लिए प्रभावी कार्रवाई करे.