वॉशिंगटन. उरी आतंकी हमले पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा है. ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने आखिरी भाषण में पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकवाद को समर्थन देने वाले देश छिपकर वार करने से बाज आएं, वरना आतंकवाद उन्हें भस्म कर देगा. हालांकि ओबामा ने अपने भाषण में पाकिस्तान का नाम नहीं लिया है.   
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
ओबामा ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर समुदायों को सह-अस्तित्व की इजाजत नहीं दी गई तो चरमपंथ के अंगारे उन्हें जला डालेंगे. उन्होंने आगे कहा कि अगर ऐसा हुआ तो इससे अनगिनत लोग पीड़ित होंगे और चरमपंथ बाहरी मुल्कों में पहुंचेगा. 
 
इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी बाहरी ताकत को ये अधिकार नहीं है कि वह किसी दूसरी धार्मिक कम्युनिटी को लंबे समय तक दबाव से रख सके. उन्होंने कहा कि हमें इस बात पर जोर देना होगा कि सभी पक्ष एक साझा मानवता को मान्यता दें. 
 
भारत का आरोप
भारत लंबे समय से पाकिस्तान पर प्रॉक्सी वॉर छेड़ने के अलावा पाक की जमीन पर चल रहे जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठन सीमापार आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगा रहा है. 
बता दें कि रविवार को कश्मीर के उरी में सेना के एक बटालियन मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में 18 सैनिक शहीद हो गए थे.