वाशिंगटन. इसलिए बलूचिस्तान की आजादी को किसी भी तरह सपोर्ट नहीं करता है.अमेरिका ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत की आजादी का समर्थन करने से साफ इंनकार कर दिया है. अमेरिका का कहना है कि उनका देश पाकिस्तान की अखंडता व एकता का सम्मान करता है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि सरकारी नीति के अनुसार हम पाकिस्तान की एकता को सपोर्ट करते हैं और बलूचिस्तान की आजादी नहीं चाहते हैं. किर्बी ने यह बात प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूछे गए सवाल के जवाब में कही. उनसे पूछा गया था कि बलूचिस्तान मामले में अमेरिका का क्या फैसला है?
 
पीएम मोदी ने उठाया था मुद्दा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त  पर लालकिले से दिए भाषण में पीओके, गिलगित और बलूचिस्तासन के लोगों का जिक्र किया था. जिसके बाद बलूचिस्ताान के लोगों ने पीएम मोदी को उनकी समस्याओं को उजागर करने के लिए धन्यवाद भी कहा था. इतना ही नहीं भारत की ओर से बलूचिस्तान की आजादी को लेकर लगातार समर्थन भी मिल रहा है.
 
बलूच नेताओं ने की है समर्थन की मांग
बलूच नेताओं ने दुनिया के बाकी देशों से बलूचिस्तान की आजादी के लिए समर्थन की मांग है. इतना ही नहीं कई देशो में बलूच नेताओं ने बलूचिस्तान की आजादी के रूप में रैलियां निकाली थी. उनका कहना है कि पाकिस्तानी सेना खुलेआम मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रही है.