अलेप्पो. आतंकी संगठन आईएसआईएस के खिलाफ बिना डरे लड़ती हुई कुर्दिस्तान की महिला योद्धा को आतंकियों ने बेरहमी से मार डाला. एंजलिना जॉली के नाम से मशहूर 22 साल की यह वॉरियर आसिया रमजान अंतर सीरिया में आईएसआईएस आतंकियों के खिलाफ लड़ते हुए मारी गईं. 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

हॉलीवुड एक्ट्रेस एंजलिना जॉली की तरह दिखने वाली इस फाइटर की मौत तुर्की बॉर्डर के पास जराब्लस में आतंकियों के खिलाफ जारी ऑपरेशन के दौरान लड़ते वक्त हुई. सोशल मीडिया में यह खबर काफी वायरल हो रही है.
 
 
साल 1996 में सीरियन कुर्दिस्तान के कमिश्लो शहर में जन्मी आसिया साल 2014 में कुर्दिश प्रोटेक्शन यूनिट (वाईपीजी) जुड़ी थीं. बता दें कि वाईपीजी में लगभग 50,000 फाइटर्स हैं, जिनमें कम से कम 20 फीसदी महिलाएं हैं.
 
मेकअप करके जाती हैं लड़ने
 
वाईपीजी की महिला यूनिट में योद्धा महिलाएं आतंकियों से लड़ाई करने जाने से पहले लिपिस्टक, नेलपेंट और मेकअप करके जाती हैं, क्योंकि उनका मानना है कि अगर लड़ते वक्त उनकी मौत हो जाए तो वह खूबसूरत ही दिखें.
 
लड़कियों को हवस का शिकार बनाते हैं आतंकि
 
योद्धा महिलाओं को आतंकियों से लड़ने की ट्रेनिंग में यह सिखाया जाता है कि लड़ते वक्त आतंकियों के हाथ लगने से पहले खुद को गोली मार लो. आईएस आतंकियों ने कई लड़कियों को अब तक अपने हवस का शिकार बनाया है. आतंकी हमेशा से लड़कियों से खौफ खाते रहे हैं क्योंकि आईएसआईएस आतंकियों के सरगना बगदादी का कहना था कि लड़कियों के हाथों मारे जाने पर नर्क मिलेगा.