रूस. हम इंसानो के लिए यह हमेशा से ही एक जिज्ञासा भरा सवाल रहा है कि क्या पृथ्वी से बाहर भी कोई जीवन मौजूद है? अभी तक इस बारे में कोई पुख्ता सबूत हमें नहीं मिल पाए थे लेकिन हाल ही में रूस के सेति (सर्च फॉर एक्स्ट्राटेरेस्टियल इंटेलिजेंस) इंस्टीट्यूट के अंतरिक्ष विज्ञानियों को दूर अंतरिक्ष से आया रहस्यमयी सिग्नल मिला है. यह सिग्नल 6.3 ख़रब साल पुराने ‘constellation Hercules’ नाम के एक तारे से प्राप्त हुआ है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यह तारा पृथ्वी से 95 प्रकाश वर्ष दूर है जो कि करीब 855 ट्रिलियन किलोमीटर के बराबर है. यह सिग्नल वास्तव में 15 मई 2015 को रशियन अकैडमी ऑफ़ साइंस द्वारा ऑपरेट की जाने वाली RATAN 600 रेडियो टेलिस्कोप ने पकड़ा था. इस टेलीस्कोप का व्यास 600 मीटर है और यह इस मामले में दुनिया में सबसे बड़ा है. इस जानकारी को पहले पहल रूस ने गुप्त ही रखा था. बाद में इसका खुलासा पॉल गिल्स्टर नाम के एक पत्रकार ने किया. 
 
इस रहस्यमय तारे की दिशा HD164595 है और वैज्ञानिकों के अनुसार यह काफी हद तक हमारे सौर मंडल के सूरज जैसा ही है. इस सिग्नल की पड़ताल कर रहे  वैज्ञानिकों का कहना है कि इस पर लगातार बाजार बनाये रखने की जरुरत है. इस बारे में द केस फॉर प्लूटो के लेखक एलन बॉयले का कहना है कि यह किसी बाहरी दुनिया से आया सन्देश भी हो सकता है.
 
वैज्ञानिकों का मत यह भी है कि जिस तरह का यह सिग्नल है उसे भेजने वाली सभ्यता हमसे कई गुना विकसित हो सकती है. हालांकि अभी सेति के वैज्ञानिकों की टीम इस सिग्नल के एलियंस के संदेश जैसा होने का दावा नहीं कर रही लेकिन अब तक की जानकारी के आधार पर 27 सितंबर को मैक्सिको में होने वाले 67वें अंतरिक्ष विज्ञान कांग्रेस में एक पेपर प्रस्तुत किया जाएगा.