बगदाद. आतंकवादी गुट इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकवादियों ने नौ महीनों तक एक यजीदी किशोरी के साथ रेप किया. 17 वर्षीय इस यजीदी किशोरी ने उन भयावह नौ महीनों को याद करते हुए अपनी आपबीती सुनाई. उसने बताया कि सेक्स नहीं करने पर उसकी चाबुक से पिटाई की जाती थी और जांघ पर खौलता पानी डालकर यातनाएं दी जाती थीं.

किशोरी अभी तीन माह के गर्भ से है. उसने बताया कि कुंवारी लड़कियों की नीलामी हुई, जिसमें उसे और उसकी बहन को बेच दिया गया. उन्हें आतंकियों ने खरीद लिया और इसके बाद आईएस के लड़ाके हर दिन उनके साथ दुष्कर्म करते. समाचारपत्र ‘डेली मेली’ के मुताबिक, इन नौ महीनों का हर दिन उसके लिए जिंदगी और मौत में से एक को चुनना था.

आईएस द्वारा इराक के सिंजर कस्बे पर अधिकार के बाद पिछले साल अगस्त में इस किशोरी को अगवा कर लिया गया था. इसके बाद किशोरी को सीरिया के रक्का लाया गया, जहां अन्य लड़कियों और उसके कुंआरेपन की जांच की गई. किशोरी ने उन भयावह दिनों को याद करते हुए कहा,  ‘कुंआरी लड़कियों को 40 पुरुषों के साथ एक कमरे में ले जाया गया और सामूहिक रेप किया गया.’

इस किशोरी को मूल रूप से चेचेन्या के अल-रसिया ने खरीदा था. कुर्दिश सैनिकों के साथ लड़ाई में अल-रसिया और उसके अंगरक्षकों की मौत हो गई. यह खबर मिलते ही यह किशोरी अन्य लड़कियों के साथ भागने में सफल रही.