नई दिल्ली. देश की विकास दर 2014-15 में 7.3 फीसदी रही और उम्मीद है कि यह दर चीन के विकास दर के आसपास ही रहेगी. देश की विकास दर 2013-14 में 6.9 फीसदी रही थी. चीन की विकास दर अभी जारी नहीं हुई है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि यह 2014-15 में 7.3 फीसदी ही रहेगी. विश्व बैंक और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष जैसे प्रतिष्ठित वैश्विक संगठनों ने उम्मीद जाहिर की है कि भारत सर्वाधिक तेज विकास दर वाली उभरती अर्थव्यवस्था बन सकता है. सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, 2011-12 के स्थिर मूल्य पर 2014-15 में जीडीपी का अनुमानित आकार 106.44 लाख करोड़ रुपये रहा, जो 2013-14 के 99.21 लाख करोड़ से 7.3 फीसदी अधिक है.

वर्ष 2012-13 में देश की विकास दर 4.5 फीसदी रही थी. वर्ष 2013-14 में विकास दर 4.7 फीसदी रहने का अनुमान था, लेकिन आधार वर्ष में बदलाव करने के बाद 2013-14 की विकास दर 6.9 फीसदी दर्ज की गई. ताजा आंकड़े के मुताबिक, 2014-15 की चौथी तिमाही में विकास दर 7.5 फीसदी रही, जो सितंबर-दिसंबर तिमाही में 6.6 फीसदी थी. विकास दर दूसरी तिमाही में 8.4 फीसदी और प्रथम तिमाही में 6.7 फीसदी रही थी.

IANS