नई दिल्ली. पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को बार-बार उछालकर दो देशों के रिश्तों में खटास लाने की तमाम कोशिशें कर रहा है. पाक पीएम नवाज शरीफ ने एक बयान में कहा है कि कश्मीर के लोगों के हक की आवाज उठाना उनका फर्ज है. नवाज ने संयुक्त राष्ट्र को पत्र लिखकर कहा है कि भारत कश्मीरियों पर जुल्म ढा रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पाक पीएम का कहना है कि वो कश्मीरियों की आवाज उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. एक दिन पहले ही मंगलवार को ही पीएम नरेंद्र मोदी ने घाटी में शांति की अपील करते हुए कहा था कि जिन बच्चों के हाथों में किताबें होनी चाहिए थी, उनके हाथों में पत्थर है. नवाज ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून और ह्यूमन राइट्स कमिश्नर जैद अल-हुसैन को खत लिखकर भारत की शिकायत की है.
 
खत में कहा गया है कि कश्मीर के लोगों के मानवाधिकारों का हनन हो रहा है. उन्होंने कश्मीर में यूएन के दखल की मांग की है. यूएन असेंबली की बैठक की तैयारी के लिए नवाज ने अपने सलाहकारों से भी बात की है. इसमें उनके फॉरेन अफेयर्स एडवाइजर सरताज अजीज, फॉरेन सेक्रेटरी एजाज अहमद चौधरी, यूएन में पाकिस्तान की रिप्रजेंटटेटिव मलीहा लोधी और यूएस में पाकिस्तानी एंबेसडर जलील अब्बास जिलानी शामिल थे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
मीटिंग में कहा गया है कि कश्मीर का एजेंडा यूएन का अधूरा एजेंडा है. पत्र में बताया गया है कि एक माह में घाटी में 50 लोग मारे गए है और 3500 लोग घायल हुए है.