नई दिल्ली. पाकिस्तान की कंदील बलोच का गला उसके भाई ने नहीं बल्कि उसके चचेरे भाई ने घोंटा था. यह खुलासा पॉलीग्राफ टेस्ट में हुआ है. पहले इस मामले के मुख्य आरोपी मोहम्मद वसीम ने माना था कि उसने अपनी 26 वर्षीय बहन का गला घोंटा है लेकिन दोनों संदिग्धों के पॉलीग्राफ टेस्ट से यह दावा खारिज हो गया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जियो न्यूज की खबर में कहा गया है कि वसीम ने कंदील के हाथ और पैर पकड़े थे जबकि हक नवाज ने उसका गला घोंटा था. खबर में यह भी कहा गया है कि हत्या से पहले संदिग्धों ने उसे और उसके अभिभावकों को कोई नशीला पदार्थ खिला दिया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
खबर में बताया गया है कि जांच के दौरान पता चला है कि कंदील के सउदी अरब में रह रहे बड़े भाई आरिफ ने वसीम पर दबाव डाला था कि ‘परिवार के मान सम्मान को ताक पर रखने के कारण’ वह बहन कंदील को मार डाले.