इस्लामाबाद. आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का मुखिया और मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने एक बार फिर भारत के खिलाफ जहर उगला है. सईद ने पाकिस्तान सरकार से मांग की है आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के मद्देनजर पाकिस्तान भारत से विदेशी और कारोबारी संबंध पर तत्काल रोक लगाए. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हाफिज सईद ने कहा कि हमें भारत के साथ आलू और प्याज का व्यापार नहीं चाहिए. पाकिस्तान को भारत से अपने उच्चायुक्त वापस बुला लेने चाहिए और भारत के उच्चायुक्त को इस्लामाबाद से निष्कासित कर देना चाहिए. कांफ्रेंस ने हाफिज ने दावा किया कि पाकिस्तान कश्मीरियों का समर्थक है और उनको हरसंभव साथ देगा.
 
उसने पाकिस्तान से भारतीय फिल्मों पर भी प्रतिबंध की मांग की. हाफिज सईद ने कहा, “पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर तत्काल प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए क्योंकि कश्मीर में व्यक्तियों के मारे जाने से पाकिस्तान के लोगों की भावनाएं आहत हो रही हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हाफिज के इस बयान के बाद एक बार फिर साफ कर दिया है कि पाकिस्तान की करनी और कथनी में अंतर है. पाकिस्तान अक्सर दावा करता है कि उसकी जमीन से भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियां नहीं होती हैं लेकिन इस हाफिज के बयान पाकिस्तान की पोल एक बार फिर खोल दी है. इन सब के बावजूद भी पाकिस्तान सरकार हाफिज सईद पर किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. बता दें कि सईद पर अमरीका ने एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है. साथ ही कश्मीर को भारत का आंतरिक मुद्दा बताते हुए पाकिस्तान से बिना सोचे-समझे बयान देने से भी मना किया है.