वाशिंगटन. अमेरिकी कांग्रेस ने 9/11 हमले पर अहम खुलासा करते हुए कहा है कि उस हमले में शामिल आतंकियों का सऊदी अरब सरकार से कनेक्शन था. इस संबंध में ’28 पेजेस’ के नाम से 28 पन्नो वाला दस्तावेज जारी हुआ है. जिसमें इस बात का दावा किया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यह वही दस्तावेज है जो 2001 के सितंबर में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के बाद कांग्रेस ने इंक्वायरी करके दी थी. इस दस्तावेज में तत्कालीन CIA डायरेक्टर जॉर्ज टीनेट की एक चिट्ठी भी है. जारी हुए दस्तावेजों में इस बाता का दावा किया गया है कि हमले में शामिल कुछ आतंकी सऊदी अरब के बड़े नेताओं के लगातार संपर्क में थे.
 
साथ ही दस्तावेज में यह भी कहा गया है कि इस हमले के लिए सऊदी अरब से मदद मिली थी और अमेरिका में रहने वाले सऊदी के कुछ अधिकारियो का अलकायदा जैसे आतंकी संगठनों के साथ अच्छे संबंध हैं.
 
वहीं इससे उलट सऊदी अरब 9/11 हमले में अपनी किसी भी भूमिका को हमेशा से नकारता रहा है. जिस विमान को हाइजैक किया  गया था उसके 19 अपहरणकर्ताओं में से 15 सऊदी अरब से ही थे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि इससे पहले सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (CIA) प्रमुख ब्रेनन ने कहा था कि 9/11 हमले के संबंध में कांग्रेस ने एक रिपोर्ट बनाई थी, जिसके कुछ हिस्सों को जल्द जारी किया जा सकता है. उन्होंने कहा इन दस्तावेजों को फाइनल सबूत के तौर पर न देखा जाए. यह अभी प्रारंभिक रिपोर्ट है.