इस्लामाबाद. आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर में मारे जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में हिंसा और मौतों को लेकर पाकिस्तान ने अपनी चिंता जताई है. इसके लिए पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावाले को समन किया और मौलिक अधिकारों के उल्लंघन के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ निष्पक्ष और पारदर्शी जांच की मांग की. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी ने भारतीय उच्चायुक्त को वानी और अन्य नागरिकों के मारे जाने पर पाकिस्तान की चिंता से अवगत कराया. विदेश कार्यालय के एक बयान में लगातार हो रही हत्याओं के खिलाफ शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे निर्दोष नागरिकों के खिलाफ अत्यधिक बल प्रयोग निंदनीय बताया है. 
 
 
‘अंतराष्ट्रीय स्तर पर उठाएंगे कश्मीर मुद्दा’
विदेशी मामलों में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने  बुरहान की मौत पर दुख जाहिर किया है और भारतीय सैन्य कार्रवाई की निंदा की है. अजीज ने आगे कहा कि जिस तरह कश्मीर में निर्दोष लोगों पर बल प्रयोग किया जा रहा है, हम इस मुद्दे को अंतराष्ट्रीय स्तर पर उठाएंगे.
 
 
‘कश्मीर भारत का आंतरिक मामला’
अमेरिकी विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘हमने कश्मीर में भारतीय बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों की खबरें देखी हैं और हम हिंसा से चिंतित हैं. हम सभी पक्षों को शांतिपूर्ण समाधान ढूंढ़ने की दिशा में काम करने को प्रोत्साहित करते हैं.’ प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका ने इस मुद्दे पर भारत से बात नहीं की है क्योंकि यह भारत का आंतरिक मामला है.