लंदन. भगोड़ा बिजनेसमैन विजय माल्या भारत लौटने को तैयार नहीं हैं. माल्या ने लंदन को ही अपना घर बताया है. लंदन में एक इवेंट में वह काफी बेफिक्र दिखाई दिए. माल्या फॉर्मूला वन ग्रां प्री से पहले सिल्वर्सटन सर्किट में फ्री प्रैक्टिस सेशन में शामिल हुए. वह एफवन रेसिंग टीम फोर्स इंडिया के सीईओ हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
माल्या ने इस इवेंट में कहा है कि ‘जिंदगी आगे बढ़ती रहनी’ चाहिए. उन्होंने एक मीडिया पोर्टल से कहा, ‘मुझे रेसिंग पसंद है, मेरे अंदर इसे लेकर जुनून है, यही कारण है कि मैंने यह टीम खरीदी थी. मुझे मोनाको की कमी खली, मैं मोनाको में पोडियम पर जगह बनाते हुए नहीं देख पाया. मैंने बाकू को भी मिस किया जो मुझे लगता है कि शानदार रेस थी. यह इतनी शानदार थी कि अगर मैं कहूंगा कि मैंने इसे मिस नहीं किया तो मैं झूठ बोलूंगा.’
 
माल्या ने कहा कि पासपोर्ट रद्द हो जाने की वजह से वह यात्रा नहीं कर पा रहे हैं, यह उनके लिए हताशा भरा है. उन्होंने कहा कि इंग्लैंड मेरे लिए घर की तरह है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter

 
बता दें कि माल्या की बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइन्स पर 17 भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है. उनके खिलाफ नॉन बेलेबल वारंट भी जारी किया जा चुका है.