नई दिल्ली. भारत और अमरीका के दोस्ती से पाकिस्तान परेशान हो गया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा कि अमेरिका के साथ भारत की दोस्ती का नतीजा भारत के परमाणु जखीरे में इजाफे के तौर पर नहीं होना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तब तक फिक्रमंद नहीं है जब तक अमेरिका दोनों देशों में परमाणु समानता बनाए रखता है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने अगर अपना परमाणु जखीरा बढ़ाया तो पाकिस्तान जवाब देगा. भारत के परमाणु जखीरे में इजाफा पाकिस्तान को पसंद नहीं. 
 
एक समाचार एजेंसी के इंटरव्यू में अजीज ने साफ कहा कि अमरीका इस बात को समझ ले कि भारत और अमरीका की दोस्ती के बाद भारत के परमाणु जखीरे में इजाफे होने की सूरत पाकिस्तान को पसंद नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारा जोर इस बात पर है कि अमरीका के साथ भारत की दोस्ती से भारत-पाक के बीच रणनीतिक दूरियां नहीं बढ़नी चाहिए. अगर ऐसा होता है तो हमें भी इसकी प्रतिक्रिया देनी होगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अजीज ने कहा कि भारत और अमेरिका के रिश्तों को लेकर हमें कोई चिंता नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर अमरीका चाहता है कि हम सकारात्मक रुख अपनाएं तो उनसे भारत को भी इस बात के लिए राजी करना होगा कि वह अपना परमाणु जखीरा न बढ़ाए और तनाव को कम कर विवादों को हल करने की शुरुआत करे.