ढाका. बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुए आतंकी हमले में जिन सात आतंकियों ने 20 लोगों की हत्या की वह सभी स्थानीय नागरीक थे और उनमें से पांच पेशेवर अपराधी भी थे जिनकी पुलिस को तलाश थी. यह जानकारी बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्ज़मान खान ने दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बांग्लादेश के गृहमंत्री ने बताया कि इस हमले के पीछे बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमीयतुल मुजाहिदीन बांग्लादेश है और इस्लामिक स्टेट का इससे कोई लेना देना नहीं है. 
 
 
खान ने दावा किया है कि सभी हमलावर पढ़े लिखे और अमीर परिवारों से वास्ता रखते थे और इनमें से कोई भी मदरसा से ताल्लुक नहीं रखता था. जब मंत्री से पूछा इन हमलावरों के इस्लामिक कट्टरपंथ का रास्ता अख्तियार करने के पीछे की वजह पूछी गयी थी तो खान ने कहा ‘यह आजकल फैशन बन गया है.’
 
रमज़ान में भी कत्लेआम करने वाले कैसे मुसलमान: शेख हसीना
 
बता दें कि शुक्रवार की रात को ढाका के पॉश इलाके गुलशन डिप्लोमेटिक जोन की एक बेकरी में 9 आतंकियों ने हमला बोलकर 40 लोगों को बंधक बना लिया था. जिसमें से 13 लोगों को छुड़ा लिया गया, जबकि एक भारतीय सहित 20 विदेशी नागरिकों की मौत हो गई. 

रमज़ान में भी कत्लेआम करने वाले कैसे मुसलमान: शेख हसीना