लंदन. सुनकर थोड़ा अजीब जरूर लग रहा है कि फेसबुक भला किसी अपने किसी यूजर के नाम से कैसे डर सकता है, लेकिन यही सच है कि फेसबुक एक महिला के नाम से डर गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल यह पूरा मामला ब्रिटेन की ब्रिस्टल का है, जहां की एक महिला फेसबुक पर अपना अकाउंट इसलिए नहीं खोल पा रही है, क्योंकि उसका नाम आईसिस (ISIS) है. महिला ने जब फेसबुक पर लॉगिन किया तो फेसबुक की ओर से एक मैसेज मिला जिसमें लिखा था नाम बदलने को कहा गया था.
 
एक अंग्रेजी पोर्टल में छपी खबर के मुताबिक उस महिला ने अपना पूरा नाम आईसिस थॉमस भी फेसबुक को बताया, लेकिन फेसबुक ने इसे नकार दिया. महिला ने बताया कि उसकी मां ने उसका आईसिस नाम इसलिए रखा था, क्योंकि मिस्र में ज्ञान की देवी को आईसिस कहा जाता है. हालांकि थॉमस ने अपना आई-डी कार्ड फेसबुक को भेजा है, लेकिन अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
पहले भी कई लोगों का हुआ है नुकसान
इससे पहले भी आईसिस नाम का खामियाजा कई कंपनियों को भुगतना पड़ा था. अमेरिका की 7.2 अरब डॉलर की दवा कंपनी आईएसआईएस फार्मास्युटिकल्स को दिसंबर 2015 में अपना नाम बदलकर आयोनिस फार्मास्युटिकल्स करना पड़ा था. वहीं अमरीका में 35 वर्ष पुरानी किताबों की एक दुकान में सिर्फ इसलिए तोडफ़ोड़ की गई, क्योंकि उस दुकान का नाम आईसिस बुक्स एंड गिफ्ट्स था।