इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप (NSG) में भारत की सदस्यता को लेकर बड़ा खुलासा किया है. अजीज ने दावा करते हुए कहा है कि भारत को एनएसजी की सदस्यता मिलने से रोकने के लिए गहन कूटनीतिक प्रयास किया था. इतना ही नहीं उन्होंने यह बताया कि सदस्यता का विरोध करने के लिए पीएम शरीफ ने करीब 17 देशों के पीएम को पत्र भी लिखा था.
 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अजीज ने इस्लामाबाद में एक प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस मामले में विभिन्न देशों के 17 प्रधानमंत्रियों को जो निजी तौर पर पत्र लिखे थे, वो रिकॉर्ड में भी शामिल है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter

 
बता दें कि एनएसजी की पिछले सप्ताह आयोजित बैठक में भारत के प्रवेश पर आमसहमति नहीं बन पायी क्योंकि चीन सहित कुछ देशों ने इस पर आपत्ति जताई. इन देशों का एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं करने के कारण भारत एनएसजी की सदस्यता हासिल नहीं कर सकता.