वाशिंगटन. अमेरिकी के ऑरलैंडो में एक समलैंगिक नाइटक्लब पर हमले को लेकर नया और बड़ा मोड़ सामने आया है. लोगों पर अंधाधुंध गोलियों की बारिश करने वाले ओमर मतीन ने एक फेसबुक पोस्ट में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के प्रति वफादार रहने का संकल्प लिया था. हैरान करने वाली बात है कि उसने यह संदेश उसने कत्लेआम को अंजाम देने से पूर्व पोस्ट किया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक मतीन ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था, “अमेरिका और रूस इस्लामिक स्टेट पर बमबारी बंद करो. मैं आईएस सरगना अबू बकर अल बगदादी के प्रति वफादार रहने का संकल्प लेता हूं. अल्लाह मुझे कबूल करे.”
 
उसने लिखा, “सच्चे मुसलमान कभी पश्चिम के अश्लील तरीकों को नहीं अपनाएंगे. तुम हम पर हवाई हमले कर बेगुनाह महिलाओं एवं बच्चों को मारते हो, अब इस्लामिक स्टेट की सजा भुगतो.”
 
अंग्रेजी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, मतीन ने नाइटक्लब में गोलियां बरसाने के दौरान 911 नंबर पर किए फोन पर भी आईएस व अल-बगदादी के प्रति अपनी निष्ठा की घोषणा की थी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
वहीं, अमेरिका के फेडरल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन (एफबीआई) के एक अधिकारी ने भी कहा कि पल्स नाइटक्लब कत्लेआम नफरत वश अंजाम दिया गया अपराध और आतंकवादी हरकत दोनों है. अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा को गुरुवार को ऑरलैंडो स्थित घटनास्थल का मुआयना करने आना है.