ढाका. बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिन्दूओं पर हमले बढ़ते जा रहे है. शुक्रवार को अज्ञात हमलावरों ने सुबह सैर पर निकले हिंदू आश्रमकर्मी की हत्या कर दी. बताया जा रहा है मृतक नित्यरंजन पांडे पिछले 40 साल से स्वयंसेवक के तौर पर एक स्थानीय आश्रम में काम कर रहे थे. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. बता दें कि दो दिन पहले एक पुजारी की गला काटकर हत्या कर दी गई थी.  
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
स्थानीय पुलिस अधिकारी सलीम खान ने बताया कि हिमायतपुर धाम आश्रम के नित्यरंजन पांडे पर कई हमलावरों ने हमला किया. और उनकी गर्दन पर वार किए. वह पिछले 40 साल से स्वयंसेवक के तौर पर वहां काम करते थे. अब तक किसी ने इस हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इसी साल फरवरी में भी आतंकवादियों ने एक मंदिर के अन्य हिंदू पुजारी की चाकू मारकर हत्या कर दी थी. उसकी मदद के लिए आए एक श्रद्धालु को घायल कर दिया था. अप्रैल में हथियार से लैस आईएसआईएस के आतंकवादियों ने एक उदारवादी प्रोफेसर की राजशाही शहर स्थित उनके घर पर गला रेतकर हत्या कर दी थी.