जेनेवा. आमतौर पर कई लोगों की चाहत होती है कि उन्हें कोई काम नहीं करना पड़े और पूरे पैसे मिलते रहें, लेकिन स्विट्जरलैंड के लोगों की यह ख्वाहिश नहीं है. वहां के लोगों ने ‘घर बैठे पैसे देने’ वाले प्रस्ताव के खिलाफ वोटिंग करके पूरी दुनिया के सामने एक नजीर पेश की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सबसे बड़ी बात यह है कि वहां की सरकार ने इस प्रस्ताव को लोगों के सामने रखा. सरकार ने स्विट्जरलैंड में 5 साल से ज्यादा वक्त से रह रहे लोगों से पूछा था कि वे लोग इनकम के लिए तय प्रावधान का समर्थन करते हैं या नहीं? इसके लिए वोटिंग की गई. इस वोटिंग का प्रतिशत 47.4 रहा. रिजल्ट में यह बात सामने आई की लोगों ने इस प्रस्ताव के विरोध में वोटिंग की है. वहीं बेसिक इनकम के समर्थकों का तर्क था कि आजकल लोगों को जॉब नहीं मिल रही है. ऐसी स्थिति में इस प्रस्ताव से लोगों को राहत मिलेगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
प्रस्ताव के मुताबिक बड़ों के लिए बेसिक इनकम 2500 स्विस फ्रैंक्स यानी करीब 1,71,100 रुपये, जबकि बच्चों को बेसिक इनकम के तौर पर 625 स्विस फ्रैंक्स यानी करीब 42,775 रुपये देने की बात कही गई थी. इस प्रस्ताव के विरोधियों को यह आशंका थी कि प्रस्ताव के पास होते ही भारी संख्या में लोग जॉब छोड़ देंगे.