सिंगापुर. चीन ने आज अमेरिका की ‘उकसावेबाजी’ पर हमला बोला है. चीन ने कहा कि दक्षिण चीन सागर में पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवादों से अगर कोई ‘गड़बड़ी’ पैदा होती है तो उसे उसकी कोई परवाह नहीं है. सिंगापुर में एक वार्षिक सुरक्षा सम्मेलन में चीन के एडमिरल सन जियांगूओ ने कहा कि इस संबंध में बाहरी देशों को रचनात्मक भूमिका निभानी चाहिए न कि अन्य तरीका अपनाना चाहिए। अपने निजी स्वार्थों के चलते कुछ देशों के उकसावे के कारण दक्षिण चीन सागर का मुद्दा बहुत गरमा गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अमेरिका के रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर के दक्षिण चीन सागर द्वीप पर चीनी निर्माण को लेकर चेतावनी देने के एक दिन बाद सन का यह बयान सामने आया है. बता दें कि दक्षिण चीन सागर पर फिलीपीन्स का दावा रहा है और वह अमेरिका एवं अन्य देशों से इस संबंध में तुरंत कार्रवाई चाहता है. चीनी एडमिरल ने कहा कि हम गड़बड़ी पैदा नहीं करते, लेकिन हमें इसका कोई डर भी नहीं है.
 
पेंटागन के प्रमुख कार्टर ने कल कहा था कि विवादित जल क्षेत्र में अपना सैन्य विस्तार करने से चीन के आत्म विलगाव का खतरा है. इसके साथ ही, ऐसी विकट स्थिति के खतरे को कम करने के लिए उन्होंने चीन के साथ द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग का भी प्रस्ताव रखा. चीनी एडमिरल ने अमेरिका पर शीत युद्ध की मानसिकता का आरोप लगाते हुए चीन के संकल्प को दोहराते हुए आज कहा कि उनका देश इस मसले का शांतिपूर्ण समाधान चाहता है.  
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter