टोक्यो. जापान के जंगल में पिछले शनिवार को लापता हुआ 7 साल का बच्चा यामातो सही सलामत मिल गया है. इस बच्चे का मिलना किसी चमत्कार से कम नहीं है. बता दें कि बच्चे के माता पिता ने सजा देते हुए उसे जंगल में छोड़ दिया था. बच्चा एक सैन्य शिविर में मिला.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यामातो जिस जंगल में गुम हुआ था वहां भालू रहते थे. बच्चे के मिलने के बाद उसके पिता ने रोते हुए उससे माफी मांगी तब बच्चे ने सिर हिला कर ओके कहा. 
 
खबरों के मुताबिक यामातो ने एक झोंपड़ी में शरण ले ली थी और उसे पानी पीने के लिए एक टोंटी मिल गई थी, लेकिन वह भूखा था. बच्चा मिलने के बाद उससे तुरंत भोजन के बारे में पूछा गया. 
 
बच्चे को तुरंत ही खाना खिलाया गया. सेल्फ डिफेंस फोर्स के अधिकारी को मिलाउत्तरी होक्काइडो द्वीप में पुलिस के प्रवक्ता तोमोहितो तामुरा ने कहा, सेल्फ डिफेंस फोर्स के एक अधिकारी को अभ्यास के दौरान एक बच्चा मिला, जो सात वर्ष की आयु का प्रतीत हो रहा था. उन्होंने कहा, बच्चे को कोई बाहरी चोट नहीं लगी थी और उसने बताया कि वह यामातो तानूका है. बच्चा अपने माता-पिता से मिल गया है.
 
बता दें कि यामातो के शैतानी करने से नाराज होकर उसके पिता ने लौटते समय उसे जंगल में उतार दिया और आगे बढ़ गए. कुछ ही मिनटों में जब वे उस जगह पर पहुंचे तो बच्चा वहां से गायब हो गया था. जानकारी के अनुसार लड़के ने पुलिस को बताया था कि वह जहां से लापता हुआ था, शनिवार रात को वह वहां से करीब 5.5 किलोमीटर पूर्वोत्तर स्थित सैन्य शिविर में एक झोंपड़ी में चला गया था. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter