अंकारा. तुर्की के राष्ट्रपति रचेप ताईप एरदोन ने वहां के मुस्लिम समुदाय को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिससे विवाद पैदा हो गया है. उन्होंने एक बयान में कहा है कि मुसलमानों को परिवार नियोजन में शामिल होने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि उन्हें ज्यादा-से-ज्यादा बच्चे पैदा करने की दरकार है. एरदोन के मुताबिक परिवार नियोजन मुस्लिम रिवाजों के खिलाफ है.
 
एरदोन ने सोमवार को टीवी पर लाइव प्रसारण के दौरान कहा, ‘मैं खुलेआम यह बात कहता हूं. हम अपने संतानों की संख्या बढ़ाएंगे. किसी भी मुस्लिम परिवार को बर्थ कंट्रोल और परिवार नियोजन जैसी चीजों में शामिल नहीं होना चाहिए. खुदा के काम में और कोई भी दखल नहीं दे सकता. इसलिए इस बारे में पहली जिम्मेंदारी मांओं की है.’
 
एरदोन के इस बयान पर महिला संगठनों और विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है. उनका कहना है राष्ट्रपति इस बात के लिए दबाव नहीं डाल सकते कि किसी महिला को कितने बच्चे पैदा करने चाहिए और किसी परिवार को बर्थ कंट्रोल कार्यक्रम में शामिल होना चाहिए या नहीं.
 
बता दें कि इससे पहले भी बच्चे पैदा करने को लेकर एरदोन विवादित बयान दे चुके हैं. तब उन्होंने बर्थ कंट्रोल को देशद्रोह के समान बताया था.