बीजिंग. जिस खतरनाक पहाड़ पर चढ़ने के लिए हम और आप सपने में भी नहीं सोच सकते हैं, उसे चीन के कुछ बच्चे रोज पार करते हैं. ये बच्चे न तो कैंप में आए हैं और नाही इन्हें रॉक क्लाइंबिंग का कोई शौक है. पहाड़ चढ़ना इन बच्चों की मजबूरी है. जी हां सुनने में थोड़ा अटपटा लग सकता है, लेकिन यही सच है.
 
चीन के एक गांव के बच्चे स्कूल पहुंचने के लिए रोज एक बड़े और खड़े पहाड़ को पार करते हैं. ये पहाड़ पार करने में इनको करीब-करीब दो घंटे का समय लग जाता है. ये बच्चे रोज बिना किसी सुरक्षा व्यवस्था के इस खड़े पहाड़ पर चढ़ते है. बता दें कि गांव में स्कूल तक पहुंचने के लिए पहाड़ के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं है.