वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि दुनिया भर के नेता अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी डोनाल्ड ट्रंप की उम्मीदवारी चमकने से चिंतित हैं. जापान में जी-7 शिखर सम्मेलन के दौरान मीडिया से इस साल टर्म पूरा कर रहे डेमोक्रेट राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि ट्रंप की कुछ घोषणाओं को वो कैसे लें.
 
 
ओबामा ने कहा, “ये लोग रिपब्लिकन नॉमिनी से चकित हैं. इनको पता नहीं है कि वो उनकी कुछ घोषणाओं को किस तरह लें. ये लोग भौंचक्के हैं क्योंकि उन्होंने बहुत सारे ऐसे प्रस्ताव सामने रखे हैं जिससे लगता है कि या तो उनको दुनिया की समझ नहीं है या वो लापरवाह हैं या फिर उनकी दिलचस्पी ज्यादा ट्वीट और हेडलाइन्स बनाने में है.”
 
 
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव पर दुनिया भर की निगाह टिकी है क्योंकि कई देशों के नेता और राजनयिक ट्रंप की कई घोषणाओं को लेकर या तो चिंता में हैं या फिर कन्फ्यूज हैं. ट्रंप ने अंतरराष्ट्रीय कारोबार समझौतों के खिलाफ बोला है और नैटो जैसी सुरक्षा गठजोड़ में अमेरिकी हिस्सेदारी घटाने की बात की है.
 
जापान की चिंता इस बात से भी बढ़ी है कि ट्रंप ने जापान और दक्षिण कोरिया से अमेरिकी सेना वापस बुलाने की बात की है. ट्रंप ने ये भी कहा है कि जापान और दक्षिण कोरिया परमाणु हथियारों का जखीरा खुद से बनाएं ताकि सुरक्षा के लिए उनको अमेरिका पर निर्भर रहना न पड़े. जापान और दक्षिण कोरिया दोनों के लिए उत्तर कोरिया चिंता की वजह है लेकिन ट्रंप कह रहे हैं कि वो उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जॉंग उन से बात करने को तैयार हैं जिससे उत्तर कोरिया परमाणु हथियार बनाना छोड़ने की डील कर ले.
 
(अंशुल राणा आईआईएमसी से रेडियो और टीवी पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा करने के बाद कई समाचार चैनलों और अंतराष्ट्रीय अखबारों में काम करने के बाद फिलहाल जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी में विजिटिंग रिसर्च एसोसिएट और वर्ल्ड बैंक में सलाहकार हैं.)