वाशिंगटन. अमेरिका में एक महिला को एक गर्भवती महिला के गर्भ को काटकर अजन्मे शिशु को निकालने के जुर्म में 100 साल कैद की सजा सुनाई गई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, देश को दहला देने वाले इस अपराध को अंजाम देने वाली डेनियल लेन को फरवरी में सात मामलों का दोषी पाया गया था, जिसमें हत्या की कोशिश और गर्भवती महिला के गर्भ को खत्म करने की कोशिश का अपराध भी शामिल हैं. अदालत द्वारा दी गई सजा दोनों अपराधों के लिए यथासंभव अधिकतम सजा है. 
 
लेन (35) ने मार्च 2015 में सात माह की एक गर्भवती महिला मिशेल विलकिंस को लालच देकर अपने घर बुलाया था. इसके बाद उसने 27 वर्षीय गर्भवती महिला को चाकू घोंप कर बेहोश कर दिया, और उसके बाद उसके गर्भ को काट कर अजन्मे बच्चे को निकाला, जिसकी कुछ देर बाद ही मौत हो गई. इस हमले की शिकार विलकिस की जान हालांकि बच गई और उसने अदालत को बताया कि लेन एक आत्मकामी कल्पना में जीती थी. 
 
अभियोजन पक्ष ने लेन पर हत्या का आरोप नहीं लगाया, क्योंकि डॉक्टरों का कहना था कि विलकिस के गर्भ से बाहर आने के बाद बच्चे की मृत्यु हुई और लेन के पति ने अजन्मे बच्चे के रोने की आवाज सुनी थी. विलकिस के पिता ने लेन के इस कृत्य को क्रूरता करार दिया और ‘बोल्डर डिस्ट्रिक्ट’ जज मारिया बेरकेनकोटर ने इसे वहशीपन, चौंकाने वाला और घृणित बताया. 
 
जज ने कहा, “कोई ऐसा कर सकता है, यह कल्पना करना भी मुश्किल है.” लेन हमले की शाम मृत भ्रूण को अस्पताल ले गई और दावा किया कि उसका गर्भपात हुआ है, लेकिन डॉक्टरों ने उसकी इस कहानी पर विश्वास नहीं किया और बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया.