ऑकलैंड. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अपने दो देशों के दौरे के दूसरे और आखिरी दिन शनिवार को न्यूजीलैंड पहुंचे. यहां उन्होंने परंपरागत स्वागत के तहत माओरी समुदाय के एक मुखिया के साथ नाग रगड़ी. पापुआ न्यू गिनी से दोपहर बाद ऑकलैंड पहुंचने पर परंपरागत माओरी स्वागत के बाद उनका आधिकारिक कार्यक्रम शुरू हुआ.
 
राष्ट्रपति भवन की ओर से एक ट्वीट में कहा गया है कि माओरी योद्धा शुरू में आगंतुक का स्वागत आक्रामकता के साथ करते हैं, क्योंकि वे नहीं जानते कि आगंतुक दोस्त है या दुश्मन. इसके बाद उन लोगों ने राष्ट्रपति मुखर्जी के सामने एक पौधा(फर्न) रखा और कहा कि यदि दोस्ती के नाते वहां पहुंचे हैं तो उसे उठाएं. जब वे संतुष्ट हो गए कि राष्ट्रपति दोस्ती के नाते आए हैं, तब उन्हें अपने पीछे आने के लिए कहा. 
 
माओरी पुरुष और महिलाओं ने उसके बाद एक दोस्त के रूप में राष्ट्रपति के स्वागत में गीत-नृत्य पेश किए. यह समारोह दोस्ती में राष्ट्रपति मुखर्जी और माओरी प्रमुख के बीच नाक रगड़ने की परंपरा का पालन करते हुए पूर्ण हुआ. इसके बाद न्यूजीलैंड के गवर्नर जनरल सर जेरी मातेपारे ने यहां गवर्नमेंट हाउस में उनकी अगवानी की और उनका पारंपरिक स्वागत किया.