वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक राष्ट्रपति ओबामा सीरिया में मौजूद आईएसआईएस से लड़ने के लिए 250 अतिरिक्त सैनिकों को सीरिया भेजने की योजना बना रहे हैं. ये सैनिक सीरिया में आईएस से लड़ रहे स्थानीय सैनिकों की मदद करेंगे. इससे सीरियाई क्षेत्र में अमेरिकी सैन्यकर्मियों की संख्या 50 से बढ़कर करीब 300 हो जाएगी.
 
ओबामा ने इस बात का ऐलान चांसलर एंजेला मर्केल के साथ बातचीत के लिए जर्मनी दौरे के दौरान किया. ओबामा ने इस दौरान आईएस के खिलाफ अब तक के प्रयासों के लिए नाटो साझेदारों की सराहना भी की.
 
 IS हमारे देशों के लिए खतरा: ओबामा
अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने आईएस को ‘हमारे देशों के लिए खतरा’ करार दिया. उन्होंने कहा कि अमेरिका के विशेष अभियान बल के कुछ लोग पहले से सीरिया में मौजूद हैं और उनकी विशेषज्ञता ने उन स्थानीय बलों के लिए महत्वपूर्ण रही जो आईएसआईएस के खिलाफ लड़ रहे हैं.  राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि सफलता को देखते हुए मैं सीरिया में 250 अतिरिक्त अमेरिकी सैन्यकर्मियों की तैनाती की मंजूरी दी है ताकि इस गति को बरकरार रखा जा सके.
 
अमेरिका पर था दबाव !
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अमेरिका पर काफी समय से यह दबाव था कि वह आईएस के खिलाफ लड़ाई में सीरिया में अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाए. इसके अलावा अमेरिकी प्रशासन इस मामले में काफी सतर्क रहता है, क्योंकि हजारों अमेरिकी मिडल-ईस्ट में और अमेरिकी सैनिकों की तैनाती के खिलाफ रहते हैं. 
 
बता दें कि अमरीका सीरिया और ईरान में आइएस के कब्जे वाले इलाकों पर हमला करने वाले देशों का प्रतिनिधित्व कर रहा है.